VIRAL Video
Trending

VIRAL VIDEO- मुखाग्नि से ठीक पहले शख्स जिंदा हो गया

दिल्ली से आई हैरान कर देने वाली बिलकुल सच्ची खबर, जिस का विडियो वायरल हो रहा है

Story Highlights
  • मौके पर पहुंचे डॉक्टर ने भी सांसें चलने की पुष्टि की. हार्ट बीट, पल्स जांच में बिल्कुल नॉर्मल पाया. बाद में बुजुर्ग को नजदीकी हरिश्चंद्र अस्पताल पहुंचाया गया.

VIRAL VIDEO –  दिल्ली के नरेला इलाके में लोग उस वक्त हैरान रह गए जब एक बुजुर्ग की कथित मौत के बाद वो अंतिम संस्कार funeral  की तैयार कर रहे थे लेकिन मुखाग्नि से ठीक पहले उस शक्श ने आंखें खोल दी dead man alive. यह सब तब हुआ जब श्मशान घाट में उन्हें अर्थी से उठाकर चिता पर रखने की तैयारी चल रही थी.

इसे भी पढ़िए- Cave Woman जो सड़क हादसों में मारे गए जानवर खाती है

दरअसल नरेला के टिकरी खुर्द गांव के 62 साल के एक बुजुर्ग सतीश भारद्वाज की रविवार सुबह मौत हो गई थी. ऐसा दावा उनके परिवार के लोगों ने किया है. मौत के बाद मातम में डूबे परिवार के लोग उन्हें लेकर अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट पहुंचे थे.  मृतक को मुखाग्नि देने के लिए जैसे ही उनके शव से कफन को हटाया लोगों के होश उड़ गए. बुजुर्ग अचानक अर्थी पर जिंदा हो गए और सांस लेने लगे. इतना ही नहीं उन्होंने आंखें भी खोल ली.

इसे भी पढ़िए-  कुत्तों और बंदरों के बीच खूनी जंग, 250 कुत्तों की मौत

परिवार वालों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक बुजुर्ग कैंसर की बीमारी से पीड़ित हैं और उनका काफी समय से अस्पताल में इलाज चल रहा था. अस्पताल में उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था लेकिन जैसे ही उन्हें वेंटिलेटर से हटाया गया, उनकी सांसें रुक गईं. परिजनों को लगा कि उनकी मौत हो गई है जिसके बाद उन्हें घर लाया गया और अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले गए, लेकिन जब उन्हें मुखाग्नि के लिए अर्थी पर ले जाने लगे और उनके चेहरे से कफन हटाया गया तो सांसें चलती हुई मिली. यहां तक कि बुजुर्ग ने आंखें भी खोल ली, जिसके बाद तुरंत पुलिस और एंबुलेंस को कॉल किया गया.

Also Watch This Viral Video: Little Girl Plays With Gigantic Snake

श्मशान घाट में मौजूद जिन 2 लोगों ने पुलिस पीसीआर को फोन किया था उन्होंने बताया कि वो बुजुर्ग के रिश्तेदार हैं. उन्होंने बताया की लगभग 3 बजे का ये मामला है बुजुर्ग का नाम शतीश भारद्वाज है और उनकी उम्र 62 साल है.

इस हैरान कर देने वाले मामले को लेकर दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि “बुजुर्ग जिंदा ही थे, वो जिस अस्पताल में भर्ती थे वहां से बिना डॉक्टरी सलाह के परिवार के लोगों ने बुजुर्ग को डिस्चार्ज करवाया था. अस्पताल ने डिस्चार्ज करते वक्त डिस्चार्ज पेपर पर LAMA (left against medical advice) बुजुर्ग के बारे में लिखा था कि वो कैंसर के मरीज हैं. चूंकि वेंटिलेटर का खर्च ज्यादा था तो परिजन उन्हें लेकर अस्पताल से घर पहुंच गए. वेंटिलेटर से हटाए जाने के बाद उनकी सांस बंद हो गई जिसके बाद सुबह करीब 11 बजे परिजनों को लगा कि उनकी मौत हो गई और वो अंतिम संस्कार के लिए लेकर उन्हें श्मशान घाट पहुंच गए.

Also Watch This Viral Video: UP Woman Fires Gunshots in Air to Celebrate Birthday

मौके पर पहुंचे डॉक्टर ने भी सांसें चलने की पुष्टि की. हार्ट बीट, पल्स जांच में बिल्कुल नॉर्मल पाया. बाद में बुजुर्ग को नजदीकी हरिश्चंद्र अस्पताल पहुंचाया गया. पुलिस ने जानकारी दी कि श्मशान घाट से पीसीआर कॉल मिली थी. पुलिस को बताया गया कि 62 वर्षीय सतीश भारद्वाज नामक शख्स अचानक जीवित हो गए हैं. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button