VIRAL Hindi News

VIRAL HINDI NEWS- वकील की शादी का कार्ड, क्यों हो गया वायरल

संविधान की धाराओं को पिरो कर लिखा गया है यह कार्ड, लेकिन कर दी एक बड़ी भूल

Story Highlights
  • यह कार्ड कुछ ज्यादा ही दिलचस्प है. इस कार्ड में दूल्हे ने संविधान की धाराओं और विवाह अधिनियम का जिक्र किया है. हालांकि इस कार्ड में दूल्हे ने एक ऐसी गलती कर दी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गया है.

VIRAL HINDI NEWS – Unique Marriage Invitation Card:  सोशल मीडिया पर इन दिनों एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है जिस के बारे में जान कर आप हैरान हो जायेंगे. यह तस्वीर किसी नेता, अभिनेता, पहाड़, झरना, पक्षी, फूल, या किसी सुन्दर दृश्य का नहीं है……. यह तस्वीर है एक वकील की शादी का invitation कार्ड (marriage-card ) की. अब आप सोच रहे होंगे भला शादी का निमंत्रण कार्ड  (marriage invitation card ) वायरल कैसे हो सकता है ……… तो इस खबर को आगे पढ़िए सबकुछ समझ में आ जाएगा.

अपनी शादी (marriage) को यादगार बनाने के लिए हर कोई कुछ अनोखा करता है. बहुत सारे लोग अपनी शादी के कार्ड (Marriage Card) में क्रिएटिविटी दिखाते हुए अनोखा सोशल मीडिया पर हमें ऐसा ही एक अनोखा शादी का कार्ड (Unique Marriage Card of Lawyer) देखने को मिला है.

यह भी पढ़ें- जब लड़की ने उल्टे खड़े होकर पैरों से चलाया तीर, सटीक निशाना, देखकर दंग हुए लोग

यह कार्ड कुछ ज्यादा ही दिलचस्प है. इस कार्ड में दूल्हे ने संविधान की धाराओं और विवाह अधिनियम का जिक्र किया है. हालांकि इस कार्ड में दूल्हे ने एक ऐसी गलती कर दी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गया है.

दरअसल, जिस दूल्हे की शादी है, वह पेशे से वकील हैं और उन्होंने कार्ड में अपने नाम के आगे ‘एडवोकेट’ नहीं लिखवाया. इस पर लोगों ने उन्हें अपने नाम के आगे ‘एडवोकेट’ लिखने की सलाह दे दी.

इसे भी पढ़ें-  महिला ने पति को बनाया ‘कुत्‍ता’, गले में चेन बांधकर रेलवे स्‍टेशन पर घुमाया

असम के गुवाहाटी के रहने वाले इस वकील ने सविधान थीम वाला शादी का कार्ड छपवाया है. वकील ने इस कार्ड में समानता का प्रतिनिधित्व दर्शाते हुए न्याय के तराजू के दोनों तरफ दूल्हा और दुल्हन के नाम छपवाए हैं. इसके अलावा कार्ड में भारतीय विवाहों को नियंत्रित करने वाले कानून तथा अधिकारों का भी जिक्र है.

इसे भी पढ़ें- जब कैलिफोर्निया की सड़क पर होने लगी पैसों की बारिश, Watch Viral Video

इस अनोखे कार्ड में लिखा है, “भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत विवाह का अधिकार जीवन के अधिकार का एक घटक है. मेरे मौलिक अधिकार का उपयोग करने का समय रविवार 28 नवंबर को है.” इसके आगे लिखा है, “वकीलों की जब शादी होती है, तब वह ‘हां’ नहीं कहते, बल्कि वह कहते हैं, ‘नियम और शर्तों को हम स्वीकारते हैं.”

इसे भी पढ़ें- ऑनलाइन पेमेंट का जुगाड़, बैल के सिर पर बांधा QR कोड

यह अनोखा शादी कार्ड सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस कार्ड को पढ़कर लोग जमकर मजे ले रहे हैं. कुछ लोगों ने यहां तक कह दिया कि निमंत्रण कार्ड पढ़ने के बाद उन्हें CLAT का आधा सिलेबस याद हो गया है. एक अन्य यूजर ने कहा, ‘यह कोर्ट के समन की तरह है.’ एक और यूजर ने सुझाव दिया कि शादी में पंडित की जगह जज को बिठा लेना.

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button